नीमच मेडिकल कॉलेज की नींव खुदाई शुरू हुई | Foundation excavation of Nimach Medical College started

मिली जानकारी के अनुसार, आगामी सत्र से मंडला, श्योपुर, राजगढ़, नीमच, सतना, मंदसौर और सिंगरौली में कुल 7 मेडिकल कॉलेज खोलने की तैयारी है। इन कालेजों के भवन तैयार करने का काम तेजी से चल रहा है। तैयारी होने पर नेशनल मेडिकल कमीशन को कॉलेजों द्वारा शुरू करने के लिए आवेदन भेजा जाएगा। अगर ये कॉलेज खुलते है तो इसके बाद प्रदेश में मेडिकल कालेजों की संख्या 20 हो जाएगी और सीटों में भी वृद्धि होगी । इसके अलाावा एमबीबीएस की 1050 सीटें बढ़ जाएंगी। इन कॉलेजों में एमडी-एमएस कोर्स शुरू होंगे, जिससे प्रदेश में डॉक्टरों की कमी दूर होगी और आमजन को भी बेहतर और जल्द इलाज मिल सकेगा। बता दे कि वर्तमान में मध्य प्रदेश में 13 सरकारी मेडिकल कॉलेज है और इन कॉलेजों में एमबीबीएस की कुल 2035 सीटें है। प्रदेश में 9 निजी मेडिकल कॉलेज है और इन कॉलेजों में एमबीबीएस की 1450 सीटें रहेगी। 

गौरतलब है की प्रदेश की शिवराज सरकार द्वारा प्रदेश के नए स्वीकृत मेडिकल कॉलेजों के टेंडर प्रक्रिया भी पूरी कर ली है और कंपनियों के टेंडर होकर काम भी कई जगह शुरू हो चुके है। मंदसौर में तो खुद मुक्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आये थे और मेडिकल कॉलेज का भूमि पूजन कर के गए है और जल्द ही नीमच सहित अन्य मेडिकल कॉलेज के भूमि पूजन का भी आश्वाशन दिया था। हालाँकि जमीनी स्तर पर काम शुरू हो चुका है, नीमच में भी कनावटी पुलिस लाइन के समीप निर्माण करने वाली कंपनी ने अपना कामकाज प्रारम्भ कर दिया है बस अब सिर्फ भूमि पूजन की ओपचारिकताएं बाकी है।

९७४५२ वर्गफीट सरकारी भूमि प्रशासन मेडिकल कॉलेज क नाम आवंटित
कनावटी से पहले शहरी सीमा में पीएम आवास काूलोनी के पास स्थित ९७४५२ वर्गफीट सरकारी भूमि प्रशासन मेडिकल कॉलेज क नाम आवंटित कर चुका है। जहां से अतिक्रमण हटाने के बाद वह ठेकेदार को सौंप दी है। जहां पूरी भूमि को समतल करके सबसे पहले अपने अस्थायी कार्यालय को तैयार किया, ताकि वहां से इस पूरे प्रोजेक्ट का संचालन किया जा सके। इसके बाद चारों तरफ बाउंड्रीवाल निर्माण के लिए करीब ७-८ फीट गहरी नींव खुदाई भी कर दी है। साथ ही अब बीते दो दिन से ठेकेदार ने मुख्य भवन की आधारशिला रखने के लिए उसका बेस तैयार करने के लिए भी खुदाई शुरू करवा दी है। इस पूरे निर्माण के दौरान ठेकेदार को पानी की जरूरत भी पड़ेगी। इसके लिए परेशान नहीं होना पड़ा और कहीं से रुपए खर्च करके नहीं मंगवाना पड़े, उसके लिए मौके पर ही सबसे पहले ट्यूबवेल खनन कार्य भी करवा दिया है। जिससे पानी की कमी भी नहीं आएगी।

नीमच-मंदसौर में स्वीकृत मेडिकल कॉलेज का संयुक्त टेँडर मिला
गुजरात की कंपनी को नीमच-मंदसौर में स्वीकृत मेडिकल कॉलेज का संयुक्त टेँडर मिला है। गत ८ मई को सीएम ने मंदसौर में आकर वहां के कॉलेज का निर्माण का भूमिपूजन किया था। अब नीमच में भी जल्द करने की घोषणा उसी मंच से की थी। हालांकि अभी तक यहां कि तारीख तय नहीं हुई है। ठेकेदार ने अपने स्तर पर बैसिक काम को आगे बढ़ाना शुरू कर दिया है। ताकि बाद में उसमें लेटलतीफी नहीं हो।

इनका यह कहना है
कनावटी के पास मेडिकल कॉलेज के लिए भूमि चिन्हित कर अधिग्रहण कर ली है। नीमच मेडिकल कॉलेज के लिए ३२५ करोड़ रुपए स्वीकृत हुए है। गुजरात की कंपनी को कार्य भवन निर्माण के लिए सौंपा गया है। अभी वहां पर नींव खुदाई सहित बाउड्रीवाल का कार्य शुरू हो गया है। जल्दी ही कॉलेज का निर्माण होकर आमजन को बड़ी सौगात मिलेगी।
- दिलीप सिंह परिहार, विधायक नीमच।

टिप्पणियाँ

लोकप्रिय पोस्ट

18 अप्रैल से चंगेरा (जावद चौराहा) स्थित नई मंडी में भी शुरू होगा कारोबार, व्यापारियों व मंडी बोर्ड ने लिया बड़ा निर्णय, अब पुरानी मंडी में नहीं होगी गेहूं की नीलामी